कर्मचारियों को दफ्तर बुलाने में टेक कंपनियों की अभी दिलचस्पी नहीं, ऑफिस आने का निर्णय स्टॉफ की मर्जी पर छोड़ा

  • आईटी कंपनियों का अधिकांश काम इंटरनेट पर होता है
  • कंपनी रिटर्न-टू-ऑफिस पॉलिसी की समीक्षा करेगी

दैनिक भास्कर

Jun 15, 2020, 01:55 PM IST

नई दिल्ली. लॉकडाउन में ढ़ील के बावजूद अधिकांश आईटी और टेक्नोलॉजी कंपनियां कर्मचारियों को ऑफिस बुलाने में दिलचस्पी नहीं ले रही हैं। चूंकि, उनका अधिकांश काम इंटरनेट पर होता है। अभी तक वर्क फ्रॉम होम की वजह से कंपनियों की वर्क प्रोडक्टिविटी पर कोई खास असर नहीं पड़ा है। इसलिए वे ऑफिस आने का निर्णय कर्मचारियों की मर्जी पर छोड़ दी हैं। हालांकि, कई कंपनियों ने कुछ फीसदी वर्कफोर्स के साथ दफ्तर से काम शुरू दिया है लेकिन वे कर्मचारी पर दफ्तर आने का दबाव नहीं बना रही हैं। 

कर्मचारियों के पास रहेगा विकल्प

  • Goldman Sach की बेंगलुरु में 5,500-लोगों की टीम के साथ मजबूत टेक्नोलॉजी और सर्विस सेंटर है। कंपनी अगले कुछ माह तक कार्यालय से केवल 30 प्रतिशत कर्मचारियों को ही काम करने की अनुमति दी है। कंपनी रिटर्न-टू-ऑफिस पॉलिसी की समीक्षा करेगी। उसके बाद ही कर्मचारियों को ऑफिस बुलाएगी। भारत में Goldman Sach के सर्विस हेड गुंजन सामतानी का कहना है कि दफ्तर में वापसी को लेकर फिलहाल समीक्षा की जा रही है। सब कुछ ठीक रहने  पर ही कर्मचारियों को दफ्तर बुलाया जाएगा।
  • ग्लोबल सॉफ्टवेयर कंसलटेंसी कंपनी थॉटवर्क्स (ThoughtWork) 40-50 फीसदी कर्मचारियों को कार्यालय में काम के लिए रोटेशनल आधार पर बुला सकती है। हालांकि, कंपनी का कहना है कि फिलहाल दफ्तर से काम करने को लेकर जल्दबाजी नहीं है। कंपनी पहले चरण में केवल 5% कर्मचारियों को ही ऑफिस बुलाएगी। कंपनी के मुताबिक, अगले चरण में यह 15-20% तक बढ़ जाएगा। भारत में थॉटवर्क्स के लिए कोविड -19 की रिस्पांस टीम की प्रमुख दीपा देव ने कहा कि लॉकडाउन पूरी तरह से हटने के बाद भी सभी कर्मचारियों के पास घर से काम करने की छूट रहेगी। जरूरत के मुताबिक घर से काम करने के विकल्प चुना जा सकता है। केवल महत्वपूर्ण वर्क से संबंधित कर्मचारी को ही दफ्तर आना पड़ा सकता है।

गूगल और फेसबुक की ग्लोबल गाइडलाइन

गूगल तथा फेसबुक भारत में संकेत दिया कि वे अपने गाइडलाइन का वैश्विक स्तर पर पालन करेंगे। बता दें कि दिग्गज टेक कंपनी फेसबुक का ऑफिस 6 जुलाई 2020 से खुल सकता है। कंपनी जुलाई से ऑफिस से कामकाज शुरू करने की योजना बना रही है। हालांकि, फेसबुक अपने अधिकतर कर्मचारियों को इस साल के अंत तक वर्क फ्रॉम होम यानी घर से काम करने की इजाजत दी है। वहीं, गूगल ने भी अपने कर्मचारियों को दिसंबर’ 2020 तक घर से काम करने की अनुमति दी है। गूगल ने भी वर्क फ्रॉम होम की पॉलिसी आगे तक के लिए बढ़ा दिया है। बता दें कि कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के चलते फेसबुक-गूगल समेत दुनियाभर की कंपनियों ने ऑफिस से कामकाज को बंद रखा है।