कभी हजारों करोड़ का कर्ज देते थे, अब कर्ज चुकाने में छूट रहे हैं पसीने, यस बैंक के राणा कपूर की देश में सबसे महंगी प्रॉपर्टी नीलामी के कगार पर

  • कपूर के ऊपर इंडिया बुल्स का 1,200 करोड़ रुपए का लोन बकाया है
  • 30 करोड़ से नीचे की कोई भी प्रॉपर्टी नहीं है राणा कपूर के पास

दैनिक भास्कर

Jun 26, 2020, 05:45 PM IST

मुंबई. वो कभी एक फोन कॉल पर हजारों करोड़ रुपए के कर्ज बांट देते थे। आज अपनी प्रॉपर्टीज के कर्ज चुकाने में उनके पसीने छूट रहे हैं। उनका पता देश की कई आलीशान प्रॉपर्टीज के रूप में है। अब यह सब नीलामी की कगार पर हैं। यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर इस समय इसी स्थिति से गुजर रहे हैं।

उनकी प्रॉपर्टी देश के सबसे महंगे पते के रूप में है। अगर यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर अगले दो महीनों के भीतर इंडियाबुल्स का लोन चुकाने में नाकाम रहते हैं तो उनकी आलीशान बिल्डिंगों की नीलामी की जा सकती है।

मुंबई से लेकर दिल्ली तक फैली है प्रॉपर्टी

मुंबई के पॉश इलाके अल्टामाउंट रोड पर खुर्शीद-आबाद के नाम से जानी जाने वाली दो मंजिला आवासीय इमारत, वर्ली में इंडियाबुल्स ब्लू टॉवर बी और सी और सेसेन में तीन ड्युप्लेक्स, नेपियन सी रोड और 40 अमृता शेरगिल मार्ग का समावेश है। शेरगिल मार्ग नई दिल्ली के अरबपतियों के रहने के रूप में जाना जाता है। ये आने वाले दिनों में नीलामी में जा सकते हैं।

इंडिया बुल्स ने कर्ज के बकाए पर भेजी नोटिस

इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस और इंडियाबुल्स कमर्शियल क्रेडिट लिमिटेड ने सिक्योरिटीज एंड रिकंस्ट्रक्शन ऑफ फाइनेंशियल एसेट्स एंड एनफोर्समेंट ऑफ सिक्योरिटी इंटरेस्ट एक्ट (सरफैसी) के तहत अपने कर्जदारों को नोटिस दिया है। मुंबई की संपत्तियों में लोन डिफॉल्ट की राशि करीब 650 करोड़ रुपए है। राणा और उनके परिवार के नियंत्रण वाले कारोबारियों ने इन संपत्तियों को इंडियाबुल्स के पास गिरवी रखा था। कपूर पर कथित तौर पर रियल एस्टेट कंपनी का 1,200 करोड़ रुपए बकाया है।

सीबीआई ने फाइल की है चार्जशीट

इंडियाबुल्स के प्रवक्ता ने कहा, ‘हमें दिल्ली हाई कोर्ट से अपने पक्ष में सेक्शन 9 का आदेश मिल चुका है। हमने अब सरफैसी प्रक्रिया शुरू कर दी है। हम अच्छी तरह से कोलेटराइज्ड हैं और उक्त संपत्तियों की आगामी नीलामी में अपने 1200 करोड़ रुपए की वसूली की उम्मीद करते हैं। कपूर के लिए परेशानी बढ़ती जा रही है। सीबीआई ने मार्च के शुरू में दर्ज धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार के एक अलग मामले में उनके और डीएचएफएल के प्रमोटर्स के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी।

एनपीए होने के बाद होगी नीलामी

इंडिया बुल्स के प्रवक्ता ने कहा कि सरफैसी कानून में कर्ज लेने वालों को एनपीए करने के बाद दो महीने की नोटिस दिए जाने की जरूरत होती है। इसलिए नीलामी से पहले की प्रक्रिया में दो-तीन महीने लग सकते हैं। प्रवक्ता ने कहा कि हम शहर के बीचोंबीच स्थित प्रमुख प्रॉपर्टीज को लेकर बहुत अच्छी तरह से कोलेटराइज्ड हैं और सारी रिकवरी पूरी करने की उम्मीद करते हैं।

यह है राणा कपूर की रियल एस्टेट की कहानी

अल्टामाउंट रोड पर खुर्शीद-आबाद : यह एक दो मंजिला आवासीय इमारत है जो सुपर-प्रीमियम लोकैलिटी अल्टामाउंट रोड पर स्थित है। प्लाट का आकार लगभग 1,400 वर्ग यार्ड है। इसकी कीमत 140 करोड़ रुपए हो सकती है। रियल एस्टेट कंसल्टेंट्स का कहना है कि इस बंगले में छह से सात कमरे हैं। आसपास के क्षेत्र में एक 2,500 वर्ग यार्ड का प्लॉट कुछ महीने पहले बिक्री के लिए आया था और इसकी कीमत लगभग 250 करोड़ रुपए आंकी गई थी।

कोरोना के बावजूद इस तरह की प्रॉपर्टी की है मांग

कोरोना के बावजूद, इस तरह की प्रॉपर्टीज की मांग बहुत अधिक है। जोन्स लैंग लासले इंडिया के सीनियर डायरेक्टर और हेड रितेश मेहता ने कहा कि यह संपत्ति अपने स्थान और पते के कारण अच्छा खासा प्रीमियम देगी। अगर इस संपत्ति की नीलामी की जानी है तो इसके संभावित खरीदार कोई उद्योगपति या प्रमुख स्टॉकब्रोकर हो सकते हैं।

वर्ली में इंडियाबुल्स ब्लू टॉवर बी और सी: पूर्व बैंकर कथित तौर पर इस प्रोजेक्ट में लगभग 10 मंजिलों के मालिक हैं। इसमें 5,000 से 6,000 वर्ग फुट हर मंजिल पर है। एक रेसिडेंशियल यूनिट की कीमत लगभग 70,000 रुपए प्रति वर्ग फुट है। इसकी कीमत 400 करोड़ रुपए हो सकती हैं।

नेपियन सी रोड पर ड्युप्लेक्स: – रियल एस्टेट ब्रोकर्स का कहना है कि इनमें से प्रत्येक अपार्टमेंट 10,000 वर्ग फुट में फैला हुआ है। पूर्व बैंकर सेसेन में तीन ड्युप्लेक्स के मालिक हैं। इसमें से प्रत्येक का मूल्य लगभग 110 से 112 करोड़ रुपए है। अपार्टमेंट की कुल कीमत लगभग 300 करोड़ रुपए होने का अनुमान है।

40, अमृता शेरगिल मार्ग:2017 में राणा ने राजधानी के लुटियंस जोन में अमृता शेरगिल मार्ग पर एक बंगला खरीदने के लिए इंडियाबुल्स हाउसिंग से लगभग 370 करोड़ रुपए उधार लिए थे।

कपूर के परिवार ने गौतम थापर से करीब 380 करोड़ रुपए में इस बंगले को खरीदा था। थापर ने 600 करोड़ रुपए के कॉर्पोरेट लोन के लिए यस बैंक को संपत्ति गिरवी रख दी थी। बाद में संपत्ति बेचने की पेशकश करके देनदारी चुकाने की बात कही।

ईडी ने कपूर और उनकी पत्नी के खिलाफ मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज किया है

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कपूर और उनकी पत्नी बिंदू के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दायर किया है। रियल एस्टेट ब्रोकर्स का कहना है कि बंगला फिर से बिक्री के लिए है और इसकी कीमत 450 करोड़ रुपए हो सकती है। कुल बिल्ट-अप एरिया करीब 12,500 वर्ग फुट है और प्लॉट का साइज 6,000 स्क्वेयर यार्ड है। इसके आसपास के इलाके में एक बंगला कुछ साल पहले करीब 250 करोड़ रुपए में बिका था।

यह इस बात का संकेत है कि यह इलाका रियल एस्टेट मार्केट में मंदी से अछूता रहा है। इनमें से अधिकांश बंगले लुटियंस जोन में स्थित हैं जहां कोई परिवर्तन या एक्सटेंशन की अनुमति नहीं है।  

मुंबई के मलाबार हिल में अमीरों की बस्तियों में प्रॉपर्टी

पूर्व बैंकर और उनके परिवार के मालिकाना हक वाली अन्य संपत्तियों में मुंबई के मालाबार हिल में इल पलाज्जो में एक डुप्लेक्स अपार्टमेंट शामिल है। यह अमीरों और नामचीन हस्तियों का अड्डा है। यह 3,500 वर्ग फुट में फैली समुद्र की ओर खुली प्रॉपर्टी है। इसकी कीमत लगभग 40 करोड़ रुपए है। ऐसी ही एक संपत्ति पिछले साल 42 करोड़ रुपए में बेची गई थी।

नरीमन पाइंट के फाइव स्टार होटल ट्राइडेंट के पीछे प्रॉपर्टी

कपूर का परिवार नरीमन पाइंट के ट्राइडेंट होटल के पीछे एनसीपीए में 2,300 वर्ग फुट अपार्टमेंट का भी मालिक है। यह एक प्रीमियम बिल्डिंग है। यहाँ के ब्रोकर्स ने कहा कि इसमें प्रत्येक यूनिट का मूल्य 28 से 30 करोड़ रुपए है।