कपड़ों से नहीं फैलेगा वायरस, अरविंद लिमिटेड एंटी वायरल टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी से बनाएगा फैब्रिक और गारमेंट्स

  • अरविंद ने स्विस टेक्सटाइल इनोवेशन फर्म हैक मैटेरियल एजी के साथ साझेदारी की है
  • अरविंद लिमिटेड अपने इंटेलीफैब्रिक्स ब्रांड के तहत इसे बनाएगा

दैनिक भास्कर

Jun 10, 2020, 09:57 PM IST

नई दिल्ली. कोरोना वायरस से बचाव के लिए अरविंद लिमिटेड एंटीवायरल कपड़े बनाने का फैसला किया है। इसके लिए कंपनी ने स्विस टेक्सटाइल्स इनोवेशन फर्म हैक मटेरियल एजी के साथ साझेदारी की है। कंपनी इंटेलीफैब्रिक्स ब्रांड के तहत देश में पहली बार एंटी वायरल टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी का उपयोग करेगी।
इस समय पूरी दुनिया कोविड-19 महामारी से जूझ रही हैं। लोगों का रोजाना का जीवन पूरी तरह बदल गया है। खाने-पीने से लेकर लाइफस्टाइल में बहुत बड़ा परिवर्तन देखने को मिल रहा है। वायरस से लड़ने के लिए लोग एक तरफ लोग हेल्दी फूड पर फोकस कर रहे हैं। इसी के साथ फैशन इंडस्ट्री में भी बदलाव देखा जा रहा है।

वायरो ब्लॉक प्रक्रिया के जरिए वायरस का होगा अंत

अरविंद लिमिटेड ने इसके लिए अरविंद ने स्विस टेक्सटाइल इनोवेशन फर्म हैक मैटेरियल एजी (HeiQ Materials AG) और ताइवान की स्पेशलिटी केमिकल कंपनी मेसर्स जिनटेक्स कॉर्पोरेशन के साथ साझेदारी की है। एक रिसर्च में यह पता चला है कि वायरस और बैक्टीरिया कपड़ों की सतह पर दो दिनों तक सक्रिय रहता है। कंपनी का दावा है कि हैक वायरो ब्लॉक प्रक्रिया के जरिए कपड़ों के संपर्क में आते ही वायरस को खत्म कर देगा।

बाजार में एंटी वायरस फैब्रिक के साथ फैशनबेल कपड़े आएंगे

अरविंद लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक कुलीन लालभाई ने बताया कि कोरोनावायरस महामारी ने दुनियाभर में अस्थिरता फैलाई है। ऐसे समय में हमारे ग्राहक सुरक्षित रहें, इसके लिए हम प्रतिबद्ध हैं। यही कारण है कि हमने वायरोब्लॉक क्रांतिकारी तकनीक भारत में लाने के लिए हैक के साथ साझेदारी की है। उन्होंने आगे कहा कि जल्द ही भारतीय बाजारों में हम ऐसे कपड़े लाएंगे जो वायरस से लड़ने में मदद करेगा और फैशनेबल भी होंगे।