एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने एमएसएमई के लिए लॉन्च किया सुरक्षा सैलरी अकाउंट, हॉस्पिकैश-पर्सनल एक्सीडेंटल इंश्योरेंस की सुविधा भी मिलेगी

  • एमएसएमई में कार्यरत कर्मचारियों को सैलरी के साथ अन्य लाभ नहीं मिलते हैं
  • इस अकाउंट से कर्मचारियों को वित्तीय सुरक्षा और औपचारिक बैंकिंग अनुभव मिलेगा

दैनिक भास्कर

Jun 15, 2020, 04:17 PM IST

नई दिल्ली. एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने सोमवार को माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (एमएसएमई) के लिए सुरक्षा सैलरी अकाउंट लॉन्च करने की घोषणा की। एयरटेल पेमेंट्स बैंक का कहना है कि यह काफी इनोवेटिव सैलरी अकाउंट है जिसमें अकाउंटहोल्डर को कई प्रकार की सुविधाएं मिलती हैं।

उपभोक्ताओं के बड़े समूह के लिए डिजाइन किया है यह अकाउंट

एयरटेल पेमेंट्स बैंक की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सुरक्षा सैलरी अकाउंट एमएसएमई जैसे बड़े उपभोक्ता समूह के लिए खासतौर पर तैयार किया गया है। इस इनोवेटिव अकाउंट के जरिए एमएसएमई और अन्य संस्थान कैशलेस पेमेंट करने के योग्य हो जाएंगे। साथ ही वे अपने कर्मचारियों को वित्तीय सुरक्षा का कवच प्रदान कर सकेंगे। इस अकाउंट के साथ हॉस्पिकैश इंश्योरेंस और पर्सनल एक्सीडेंटल इंश्योरेंस जैसी कई प्रकार की सुविधाएं अकाउंटहोल्डर्स को प्रदान की जा रही हैं।

एमएसएमई में कार्यरत कर्मचारियों को जरूरतों को पूरा करेगा यह अकाउंट

एयरटेल पेमेंट्स बैंक के एमडी और सीईओ अनुब्रत बिश्वास ने कहा कि हमें एमएसएमई सेगमेंट में कार्यरत कर्मचारियों की विशिष्ट आवश्यकताओं की पूर्ति करने वाले सुरक्षा सैलरी अकाउंट को शुरू करने में काफी खुशी हो रही है। उन्होंने कहा कि हमारी रिसर्च से पता चला है कि कैसे सुरक्षा ना होने के कारण बीमारी के समय वर्कफोर्स वित्तीय रूप से कमजोर हो जाती है? इसी को देखते हुए हमने यह सुरक्षा सैलरी अकाउंट डवलप किया है। इस अकाउंट के जरिए एमएसएमई अपने कर्मचारियों को वित्तीय सुरक्षा और औपचारिक बैंकिंग अनुभव प्रदान कर सकेंगे। 

देश में करीब 6 करोड़ एमएसएमई यूनिट

देश में करीब 6 करोड़ एमएसएमई यूनिट हैं, जिनकी कुल जीडीपी में 29 फीसदी हिस्सेदारी है। बयान में कहा गया है कि इन यूनिट्स में बड़ी संख्या में कार्यरत वर्कफोर्स को सैलरी के साथ सोशल और हेल्थकेयर लाभ नहीं मिल पाते हैं। वित्तीय सुरक्षा का अभाव इन कर्मचारियों को अत्यधिक असुरक्षित बना देता है।