एक ही शेयर में रिवर्सल कारोबार करने के आरोप में सेबी ने तीन संस्थानों पर 15 लाख रुपए की लगाई पेनाल्टी

  • आसाम वैली और बीडी सप्लायर्स मिलकर कर रहे थे कारोबार
  • शेयरों की कीमतें ऊपर नीचे कर वोल्युम में होता था खेल

दैनिक भास्कर

Jun 10, 2020, 08:45 PM IST

मुंबई. पूंजी बाजार नियामक सेबी ने शेयरों के वोल्युम में उतार-चढ़ाव करने के आरोप में तीन संस्थानों पर 15 लाख रुपए की पेनाल्टी लगाई है। इसमें बीडी सप्लायर्स, बार्लिंगटन बार्टर और चुनचुन इस्पात का समावेश है। सभी पर पांच-पाच लाख की पेनाल्टी लगाई गई है। इलिव्किड स्टॉक में रिवर्सल ट्रेड के आरोप में यह पेनाल्टी लगाई गई है। सेबी ने इस मामले में एक अप्रैल 2014 से 30 सितंबर 2015 तक जांच की थी। 

सेबी के नियमों के मुताबिक गलत है यह कारोबार

सेबी के लिहाज से यह ट्रेड सही नहीं होता है। इससे इस तरह के शेयरों में आर्टफिशियल वोल्युम बनता है। यह एक तरह से मेनिपुलेशन होता है। जांच के दौरान बीडी सप्लायर्स शेयर में कई बार इस तरह के कारोबार किए गए। सेबी के मुताबिक बीडी सप्लायर्स ने गलत कारोबार करके 826 करोड़ यूनिट का आर्टिफिशियल वोल्युम बनाया। सेबी की जांच में पाया गया कि आरोपी ने केवल 34 सही कारोबार किया बाकी 80 गलत कारोबार किया। इससे एक करोड़ 15 लाख गलत यूनिट का वोल्युम बना।

60 रुपए का शेयर 7 सेकेंड में 26 रुपए पर

सेबी के मुताबिक, यह गलत कारोबार आसाम वैली के साथ मिलकर किया गया। एक तरफ आसाम वैली खरीदार था तो दूसरी ओर बीडी सप्लायर्स बेचनेवाला था। फिर बीडी सप्लायर्स खरीदार था तो आसाम वैली बेच रहा था। जांच के मुताबिक आसाम वैली फाइनेंस 60 रुपए पर शेयर में कारोबार किया जबकि 7 सेकेंड में बीडी सप्लायर्स ने इसमें 26 रुपए में कारोबार किया। इस तरह से कई बार इन दोनों ने बीएसई पर इस तरह का कारोबार किया। जिससे शेयरों में उतार-चढ़ाव देखा गया।

बार्लिंगटन बार्टर पर भी  पांच लाख की पेनाल्टी

इसी तरह के एक दूसरे मामले में सेबी ने बार्लिंगटन बार्टर पर भी पांच लाख रुपए की पेनाल्टी लगाई गई है। इस कंपनी ने भी इसी तरह का कारोबार किया था। इस कंपनी ने जय अंबे वैली के साथ मिलकर यह कारोबार किया। दोनों कंपनियों ने एक दूसरे में इसी तरह से खरीदी बिक्री की। सेबी ने पाया कि यह कारोबार 23 मार्च 201 से 30 मार्च तक किए गए थे। एक बार जब शेयर का भाव 20 रुपए था, कारोबार करने पर यह 23 सेकेंड में 9 रुपए तक चला गया।

चुनचुन इस्पात पर पांच लाख की पेनाल्टी

इसकी जांच में पाया गया कि इसने 826 करोड़ यूनिट का आर्टिफिशियल ट्रेड का निर्माण किया। यह बाजार के कुल वोल्युम का 54.68 प्रतिशत था। सेबी ने पाया कि यह कारोबार पूरी तरह से गलत था। जांच के मुताबिक कुल 11 सही कारोबार किए गए जबकि 9 कारोबार गलत किए गए। इससे 38.50 लाख गलत वोल्युम का निर्माण किया गया। इसी तरह के एक अन्य मामले में सेबी ने चुनचुन इस्पात पर भी पांच लाख रुपए की पेनाल्टी लगाई है। यह कंपनी भी इसी तरह का अवैध वोल्युम तैयार कर रही थी।

सेबी के मुताबिक चुनचुन इस्पात ने भी उपरोक्त समय में ही अवैध कारोबार किया था। इस कंपनी ने मेहता फिनस्टॉक के साथ मिलकर यह काम किया था।