एंटी-डोपिंग मामलों की सुनवाई शुक्रवार से ऑनलाइन होगी, ऑडियो-वीडियो दोनों रूप में खिलाड़ी अपनी बात रख सकेंगे

  • साई बेंगलुरु और एनआईएस पटियाला में रुके खिलाड़ियों के सैंपल लेने के लिए नाडा खेल मंत्रालय से अनुमति मांगेगा
  • नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (नाडा) के डायरेक्टर ने कहा- डोपिंग के प्रति जागरूकता के लिए ऐप लॉन्च किया जाएगा

दैनिक भास्कर

May 06, 2020, 04:54 PM IST

नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (नाडा) के डायरेक्टर जनरल नवीन अग्रवाल ने कहा कि शुक्रवार से डोपिंग मामले की ऑनलाइन सुनवाई की जाएगी। उन्होंने न्यूज एजेंसी को दिए इंटरव्यू में कहा कि कोरोना के कारण पिछले दो महीनों से डोपिंग मामले की सुनवाई नहीं हो रही है। इस दौरान खिलाड़ियों को एंटी डोपिंग डिसिप्लिनरी पैनल और एंटी डोपिंग अपील पैनल के सामने अपनी बात भी रखनी होगी।

इसके लिए खिलाड़ियों को ऑडियो और वीडियो दोनों विकल्प दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पिछले साल दोनों कमेटियों ने बेहतर काम किया था और रिकॉर्ड180 मामलों का निपटारा किया था।

उन्होंने माना कि लॉकडाउन के कारण खिलाड़ियों का सैंपल नहीं ले पा रहे हैं। उन्होंने खेल मंत्रालय से निवेदन किया है कि उन्हें एनआईएस पटियाला और बेंगलुरु साई सेंटर में रुके हुए खिलाड़ियों के सैंपल लेने की अनुमति दे। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि सैंपल लेने के लिए जाने वाले अधिकारी कोरोना के लिए दी गई गाइडलाइन का पालन करें।

‘ऐप से खिलाड़ियों, कोच और पेरेंट्स को जागरुक करेंगे’
अग्रवाल ने कहा कि नाडा जल्द ही डोपिंग के प्रति जागरूकता लाने के लिए ऐप लॉन्च करेगा। जिसके माध्यम से कोचों, खिलाड़ियों और उनके पेरेंट्स को जागरूक किया जा सके। उन्होंने कहा कि वाडा से अभी इंडिया की  लैब को मान्यता नहीं मिली है। ऐसे में सैंपल को जांच के लिए विदेशों में भेजा जा रहा है। कार्गो फ्लाइट होने से वाडा से मान्यता प्राप्त विदेशी लैब में भेजने में कोई समस्या नहीं है। लेकिन यह इस बात पर निर्भर करता है कि सैंपल कहां से ली गई है और कुरियर सेवा कैसी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *