आपके पोर्टफोलियो में हाइब्रिड म्यूचुअल फंड अभी तक नहीं है? बेहतर रिटर्न के साथ इक्विटी और डेट दोनों में निवेश का अवसर देता है यह फंड

  • हाइब्रिड फंड कटेगरी में इक्विटी एक्सपोजर टोटल असेट्स का 65 और 80 प्रतिशत के बीच हो सकता है।
  • पिछले 10 सालों में हाइब्रिड फंड ने अपने कम इक्विटी एक्सपोजर के साथ निवेश को प्रोत्साहित किया है

दैनिक भास्कर

Jun 13, 2020, 06:18 PM IST

मुंबई. म्यूचुअल फंड का हाइब्रिड सेगमेंट रिटेल निवेशकों के लिये लोकप्रिय रहा है। यह देखते हुए कि हाइब्रिड फंड्स में इक्विटी और डेट एक्सपोजर का कॉम्बिनेशन होता है और इससे दोनों असेट क्लासेज का बेस्ट उपलब्ध होता है। इक्विटी ओरिएंटेड फंड्स की तुलना में ऐसे फंड्स को कम आक्रामक माना जाता है।

6 प्रकार की होती हैं हाइब्रिड स्कीम्स

यहां तक कि एक रूढ़िवादी (कंजर्वेटिव) निवेशक हाइब्रिड फंड के माध्यम से सीमित तरीके से इक्विटी में एक्सपोजर ले सकता है। सेबी के स्कीम वर्गीकरण (categorisation) के अनुसार 6 प्रकार की हाइब्रिड स्कीम्स हैं। इनमें से तीन -अग्रेसिव हाइब्रिड फंड, डायनॉमिक असेट एलोकेशन या बैलेंस्ड एडवांटेज और मल्टी एसेट एलोकेशन स्कीम्स पिछले कुछ वर्षों में निवेशकों की पसंद बनी हुई हैं। यह बिना किसी कारण के नहीं है।

इक्विटी की तरह रिटर्न देती है हाइब्रिड स्कीम्स

इनमें से प्रत्येक श्रेणी में फंड के प्रदर्शन पर एक नजर डालें तो पता चलेगा कि यहां किए गए निवेश में लगभग इक्विटी की तरह रिटर्न मिला है। वास्तव में पिछले एक दशक में हाइब्रिड फंड ने अपने कम इक्विटी एक्सपोजर के साथ भी निवेश को प्रोत्साहित किया है। अग्रेसिव हाइब्रिड फंड कटेगरी में इक्विटी एक्सपोजर टोटल असेट्स का 65 प्रतिशत और 80 प्रतिशत के बीच हो सकता है।

10 साल में बेहतर रिटर्न दिया है इस स्कीम्स ने

10 साल के आधार पर एसआईपी या एकमुश्त निवेश पर रिटर्न देखें तो आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल इक्विटी एंड डेट ने सबसे ज्यादा रिटर्न दिया है। इसका एयूएम 20,891 करोड़ रुपए है। इस फंड ने एसआईपी के मामले में 9.5 प्रतिशत और एकमुश्त निवेश के मामले में 11.4 प्रतिशत सीएजीआर की दर से रिटर्न दिया है। एसबीआई इक्विटी हाइब्रिड फंड ने इसी कैटेगरी में 10.2 प्रतिशत और 10.4 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसका एयूएम 31,504 करोड़ रुपए रहा है।

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल बैलेंस्ड एडवांटेज फंड का बेहतर प्रदर्शन

डायनॉमिक असेट एलोकेशन या बैलेंस्ड एडवांटेज फंड का इक्विटी/डेट में निवेश तेजी से मैनेज किया जाता है। इसमें आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल बैलेंस्ड एडवांटेज फंड  का एयूएम 27,511 करोड़ रुपए रहा है। एकमुश्त निवेश पर इसने 9.2 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। जबकि एसआईपी में 10.6 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल इस श्रेणी में अग्रणी रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि इक्विटी निवेश एक इन-हाउस मॉडल पर आधारित है। इस कैटेगरी ने हाल ही में 10 साल पूरा किया है और बेहतर रिटर्न दिया है।

इन फंड्स ने भी दिया अच्छा रिटर्न

इसमें अन्य फंड हाउसों में निप्पॉन इंडिया बैलेंस्ड एडवांटेज फंड रहा है जिसने अच्छा रिटर्न दिया है। इसका एयूएम 2,830 करोड़ रुपए रहा है। एडलवाइस बैलेंस्ड एडवांटेज फंड का एयूएम 1,426.79 करोड़ रुपए रहा है। मल्टी असेट एलोकेशन एक अन्य कैटेगरी है जो सेबी रीकटेग्राइजेशन के दौरान आई थी। यह फंड कम से कम तीन असेट क्लास में निवेश करता है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मल्टी असेट फंड का एयूएम 11,183 करोड़ रुपए है।

यह इस कैटेगरी में सबसे बड़ा फंड है। चार्ट पर यह टॉप परफार्मर रहा है। पिछले दस सालों में इस फंड ने 8.9 प्रतिशत सीएजीआर की दर से रिटर्न दिया है। एकमुश्त निवेशकों के लिए रिटर्न इसी अवधि में 9.8 प्रतिशत रहा है।

एसबीआई और एचडीएफसी म्यूचुअल फंड ने दिया अच्छा रिटर्न

एसबीआई मल्टी असेट अलोकेशन फंड का एयूएम 245 करोड़ रुपए रहा है। इसने एसआईपी में 8.2 और एकमुश्त राशि में 6 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। एचडीएफसी मल्टी असेट फंड का एयूएम 217 करोड़ रुपए है। इसके एसआईपी ने 8.7 प्रतिशत और एकमुश्त निवेश ने 7.2 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।