आईटीसी का शुद्ध लाभ 9 प्रतिशत बढ़ा, चौथी तिमाही में 3,793 करोड़ रुपए रहा मुनाफा, 10.15 रुपए का डिविडेंड घोषित

  • एक साल पहले शुद्ध मुनाफा 3,481 करोड़ रुपए था
  • स्कूल के पीक सीजन में पड़ी कोरोना की मार

दैनिक भास्कर

Jun 26, 2020, 10:54 PM IST

मुंबई. सिगरेट से होटल तक के व्यवसाय में शामिल आईटीसी को चौथी तिमाही में 3,793 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ है। एक साल पहले हुए 3,481 करोड़ रुपए के लाभ की तुलना में यह 9 प्रतिशत ज्यादा है। कंपनी ने 10.15 रुपए के डिविडेंड की घोषणा की है।

रेवेन्यू में 6 प्रतिशत की आई गिरावट

कंपनी ने वित्तीय परिणाम में बताया कि इसका रेवेन्यू 11,420 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले समान अवधि में यह 12,206 करोड़ रुपए था। इसमें 6 प्रतिशत की गिरावट आई है। कंपनी का इबिट्डा (अर्निंग बिफोर टैक्स, डिप्रीसिएशन) 4,163 करोड़ रुपए रहा है। इसकी मार्जिन 36.5 प्रतिशत रही है। कंपनी ने बताया कि सिगरेट बिजनेस से रेवेन्यू 5,130 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले यह 5,485.92 करोड़ रुपए था। हालांकि कंपनी का शेयर इससे पहले दिन में 3.54 प्रतिशत गिरावट के साथ 195 रुपए पर बंद हुआ था।

फरवरी के बाद कंपनी के बिजनेस पर पड़ा असर

आईटीसी ने रिलीज में कहा कि चौथी तिमाही की शुरुआत मे बिजनेस ठीक रहा, पर बाद में कोविड ने अचानक स्थिति को बदल दिया। कंपनी ने कहा कि कोविड से होटल्स, स्टेशनरी और एजुकेशन पर असर दिखा है। यह स्कूल की शुरुआत के समय दिखा है जो पीक सीजन होता है। कंपनी ने कहा कि फरवरी तक स्टेशनरी और एजुकेशन बिजनेस मे मजबूत वृद्धि दिखी थी। लेकिन मार्च महीने में इस पर असर दिखा। यह पीक सीजन होता है लेकिन इसी दौरान शैक्षणिक संस्थान बंद हो गए। साथ ही नया अकाडमिक सेसन भी इससे प्रभावित हुआ है।

कंपनी ने कहा कि होटल बिजनेस ने अच्छा प्रदर्शन किया है। हालांकि मार्च से इस पर भी कोरोना का असर दिखा है।