अमेरिकी फूड कंपनी कारगिल की भारत में चॉकलेट कारोबार में एंट्री, सालाना 10,000 टन चॉकलेट का करेगी उत्पादन, मैन्यूफैक्चरिंग के लिए लोकल फर्म के साथ की साझेदारी

  • भारत में चॉकलेट का बाजार सालाना 13-14% की दर से बढ़ रहा है, जो दुनिया में सबसे अधिक है
  • स्थानीय स्तर पर 100 से ज्यादा लोगों को नौकरी मिलेगी, कारगिल के 70 देशों में कार्यालय हैं

दैनिक भास्कर

Jun 23, 2020, 09:09 PM IST

नई दिल्ली. अमेरिकी बेस्ड फूड कंपनी कारगिल (Cargill) अब भारत में चॉकलेट कारोबार में एंट्री करेगी। यह जानकारी कंपनी ने मंगलवार को दी है। कंपनी ने कहा कि सालाना 10,000 टन चॉकलेट उत्पादन के लिए उसने वेस्टर्न इंडिया के एक लोकल मैन्यूफैक्चरिंग कंपनी के साथ समझौता किया है। बता दें कि भारत में कारगिल ने साल 1987 में अपना परिचालन शुरू किया था। कंपनी यहां रिफाइंड तेल, फूड आइटम, अनाज-तिलहन, कपास, एनिमल न्यूट्रिशंस, बाॅयो इंडस्ट्रियल और ट्रेड स्ट्रक्चर फाइनेंस में कारोबार करती है। 

कंज्यूमर की डिमांड को देखते हुए लिया फैसला

कारगिल ने अपने बयान में कहा कि एशियाई बाजार में कंज्यूमर के बीच लगातार चॉकलेट प्रोडक्ट्स को लेकर डिमांड बढ़ रही है। बढ़ती मांग को देखते हुए कंपनी वेस्टर्न भारत में एक लोकल निर्माता के साथ साझेदारी कर रही है, ताकि वह एशिया में अपना पहला चॉकलेट मैन्यूफैक्चरिंग का काम शुरू कर सके।

भारत में बढ़ रहा है चॉकलेट का बाजार

कंपनी को मैन्यूफैक्चरिंग केंद्र साल 2021 में ऑपरेशन शुरू होने की उम्मीद है और यह शुरू में सालाना 10,000 टन चॉकलेट का उत्पादन करेगी। कारगिल ने कहा कि भारत में चॉकलेट का बाजार सालाना 13-14 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है, जो दुनिया में सबसे अधिक है। इसलिए वह इस कारोबार में प्रवेश करना चाहती है। 

कारगिल के 70 देशों में कार्यालय हैं

कंपनी के बयान के मुताबिक, स्थानीय स्तर पर 100 से ज्यादा लोगों को नौकरी मिलेगी। कारगिल के 70 देशों में कार्यालय हैं जिसके कर्मचारियों की संख्या 1 लाख 60 हजार है। भारत में कारगिल खाद्य तेलों के प्रमुख ब्रांड जैसे नेचर फ्रेश, लियोनार्डो ऑलिव ऑयल, हाइड्रोजनीकृत ब्रांड का विपणन करती है। नेचर फ्रेश ब्रांड नाम के तहत गेहूं के आटे का मैन्यूफैक्चरिंग भी करती है। देश में कारगिल के कर्मचारियों की कुल संख्या करीब 4,000 है।

कारगिल के लिए भारत एक प्रमुख बाजार

कारगिल कोकोआ एवं चॉकलेट एशिया-प्रशांत की प्रबंध निदेशक फ्रेंचेस्का क्लीमन्स ने कहा कि कारगिल के लिए भारत एक प्रमुख बाजार है। यह नई साझेदारी एशिया में क्षेत्रीय उपस्थिति और क्षमताओं को बढ़ाने के लिए हमारी प्रतिबद्धता को मजबूत करती है। यह स्थानीय भारतीय ग्राहकों के साथ-साथ क्षेत्र के बहु-राष्ट्रीय ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने में कारगर होगी।