अब उबर ऐप पर राइडर-ड्राइवर दोनों को मिलेंगे नए एडिशन्स, गो आनलाइन चेकलिस्ट से लेकर मास्क वैरिफिकेशन और नई सीट लिमिट तय

  • हर ट्रिप से पहले राइडर्स को पुष्टि करनी होगी कि उन्होंने जरूरी ऐहतियात बरते हैं या नहीं
  • ड्राइवर और राइडर को अगर लगता है कि ट्रिप सुरिक्षत नहीं है तो वह ट्रिप को कैंसिल कर सकते हैं

दैनिक भास्कर

May 18, 2020, 07:33 PM IST

नई दिल्ली. ऐप आधारित कैब सेवाएं देने वाली कंपनी उबर ने सोमवार को कहा कि कोरोनावायरस महामारी के कारण जारी प्रकोप के बीच सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उसने यात्रियों और चालकों के लिए मास्क अनिवार्य करने समेत कई उपाय किए हैं। बता दें कि सोमवार से लॉकडाउन का चौथा चरण शुरू हो गया है। इसमें राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को विभिन्न श्रेणियों में क्षेत्रों को बांटने पर निर्णय लेने की शक्ति दी गई है। राज्यों के फैसले के आधार पर, उबर और ओला जैसी कंपनियां विभिन्न स्थानों में सेवाएं फिर से शुरू कर सकेंगी।

ड्राइवर और राइडर के लिए मास्क अनिवार्य हुआ
उबर के ग्लोबल सीनियर डाइरेक्टर (प्रोजेक्ट मैनेजमेंट) सचिन कंसल ने कहा कि आज यानी सोमवार से भारत में जहां भी उबर का संचालन शुरू होता है राइडर और ड्राइवर को अनिवार्य तौर पर फेस मास्क पहनना होगा। उन्होंने कहा कि यह ड्राइवरों और सवारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए शुरू की जा रही खास सुरक्षा सुविधाओं और नीतियों का हिस्सा है। बता दें कि देशभर में 25 मार्च से लागू लाॅकडाउन में कैब व टैक्सियों के परिचालन पर पाबंदी लगाई गई थी। हालांकि चार मई से शुरू हुए तीसरे चरण के लॉकडाउन में पाबंदियों में कुछ ढील दी गयी थी, तब कैब व टैक्सियों को कुछ इलाकों में परिचालन की अनुमति मिली थी। उबर ने तीसरे चरण में जमशेदपुर, कोच्चि, कटक और गुवाहाटी (ग्रीन जोन) के साथ-साथ अमृतसर, रोहतक, गुरुग्राम और विशाखापत्तनम (ऑरेंज जोन) सहित 25 शहरों में परिचालन शुरू करने की घोषणा की थी।

आज से राइडर और ड्राइवर दोनों को ऐप पर ऐसे कई नए एडिशन्स मिलेंगे, जैसे :-

गो आनलाइन चेकलिस्ट

इससे पहले कि एक ड्राइवर ऑनलाइन आए, उनसे नए गो ऑनलाइन चेकलिस्ट के जरिए यह पूछ कर पुष्टि की जाएगी कि क्या उन्होंने सुरक्षा के सभी उपाय अपनाए हैं और क्या उन्होंने फेस मास्क पहना है। इसी तरह की चेकलिस्ट राइडर्स के लिए भी बनाई गई है। हर ट्रिप से पहले राइडर्स को पुष्टि करनी होगी कि उन्होंने जरूरी ऐहतियात बरते हैं या नहीं, जैसे फेस मास्क पहनना और अपने हाथों को धोना या सैनिटाइज करना।

मास्क वैरिफिकेशन
ड्राइवर कोई ट्रिप स्वीकार करें, उनसे मास्क पहने हुए सेल्फी लेने के लिए कहा जाएगा। उबर की नई टेक्नोलॉजी इस बात को स्पष्ट करेगी कि ड्राइवर ने मास्क पहना है। सभी के लिए जवाबदेहीः हम फीडबैक के लिए नए विकल्प लेकर आए हैं, जिसमें यह भी शामिल है कि राइडर या ड्राइवर ने फेस मास्क या फेस कवर पहना था या नहीं।

अपडेटेड कैन्सिलेशन पॉलिसी
ड्राइवर और राइडर को ही यदि लगता है कि ट्रिप सुरिक्षत नहीं है तो वह ट्रिप को कैंसिल कर सकते हैं। इसमें उपयोगकर्ता ने मास्क या फेस कवर न पहना हो या सुरक्षा के किसी और उपायों का पालन नहीं किया जाना शामिल है। ऐसे में राइड कैंसिल करने का जो 50 रुपए काटा जाता है, वह इश्यू रेज करने पर 48 घंटे के अंदर लौटा दिया जाएगा।

नई सीट लिमिट
उबर राइड के दौरान ड्राइवर और राइडर के बीच उचित दूरी को सुनिश्चित करने के लिए अब अगली सीट पर सवारी को नहीं बिठाया जाएगा। यदि कोई राइडर ऐसा करने पर जोर देता है तो ड्राइवर ट्रिप कैंसिल कर सकता है। इसके साथ ही, एक कार में सिर्फ दो राइडर्स को बैठने की अनुमति दी जाएगी, और उन्हें पिछली सीट पर ही बैठना होगा।

इन 100 शहरों में ओला की सर्विस हुई शुरू
हाल ही में ओला ने अपनी वेबसाइट पर देश के 100 शहरों की एक लिस्ट पोस्ट की है जहां कंपनी ने अपनी सर्विस शुरू की है। ओला ने दिल्ली, गुरुग्राम, गाजियाबाद, अंबाला, शिमला, रेवाड़ी, पानीपत, पलवल, मंडी, मैंगलोर, कोच्चि समेत 100 शहरों में कंपनी ने संचालन शुरू कर दिया है। इन सभी शहरों में आज से ओला कैब्स, ओला ऑटो और ओला बाइक की सर्विस मिलेंगी। हालांकि, कंपनी द्वारा जारी पोस्ट में यह स्पष्ट कर दिया गया है कि फिलहाल शेयर कैब सर्विस बंद रहेंगी। साथ ही आउटस्टेशन सवारी यानी एक शहर से दूसरे शहर में जाने के लिए अनुमति नहीं दी जा रही है। इसके अलावा कैब में ड्राइवर के अतिरिक्त सिर्फ एक यात्री को ही बैठने की अनुमति होगी।