अप्रैल में प्राकृतिक गैस का उत्पादन 18.6 फीसदी घटकर 2.16 अरब घन मीटर रहा

  • पिछले साल अप्रैल में देश में 2.65 अरब घन मीटर प्राकृतिक गैस का उत्पादन हुआ था
  • प्रमुख गैस कंपनी ओएनजीसी का उत्पादन 15.3 % गिरकर 1.72 अरब घन मीटर रहा

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:04 PM IST

नई दिल्ली. कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लगाए गए लॉकडाउन के कारण अप्रैल में देश के प्राकृतिक गैस का उत्पादन करीब 18.6 फीसदी घट गया। शनिवार को जारी आधिकारिक आंकड़े के मुताबिक इस दौरान उद्योग में उपयोग काफी घट जाने के कारण उत्पादन में गिरावट आई। पेट्रोलियम मंत्रालय के आंकड़े के मुताबिक अप्रैल में 2.16 अरब घन मीटर प्राकृतिक गैस का उत्पादन हुआ। यह एक साल पहले की समान अवधि के 2.65 अरब घन मीटर उत्पादन के मुकाबले 18.6 फीसदी कम है।

ओएनजीसी का गैस उत्पादन 15.3 फीसदी घटा

पिछले महीने देश की सबसे बड़ी गैस उत्पादक कंपनी ओएनजीसी का उत्पादन 15.3 फीसदी गिरकर 1.72 अरब घन मीटर रहा। आंकड़ों के मुताबिक लॉकडाउन के कारण उपभोक्ताओं की ओर से कम ऑफटेक होने के कारण ओएनजीसी का उत्पादन गिरा। एक अन्य सरकारी कंपनी ऑयल इंडिया का उत्पादन भी 10 फीसदी गिरकर 20.205 करोड़ घन मीटर रहा। उपभोक्ताओं की ओर से कम ऑफटेक के अलावा असम के देवहल क्षेत्र में प्रोडक्शन स्ट्र्रीम में कार्बन डाइऑक्साइड की मौजूदगी के कारण क्षमता प्रभावित होने के कारण भी ऑयल इंडिया लिमिटेड का उत्पादन गिरा।

कच्चे तेल का उत्पादन 6.35 फीसदी घटा

आधिकारिक आंकड़ों में यह भी कहा गया कि अप्रैल में क्रूड ऑयल का उत्पादन 6.35 फीसदी घटकर 25 लाख टन रहा। ओएनजीसी का क्रूड उत्पादन मामूली गिरकर 17 लाख टन रहा। वहीं केयर्न जैसी निजी कंपनियों द्वारा संचालित गैस फील्ड का उत्पादन 19.2 फीसदी घटकर 6,15,800 टन रहा। केयर्न के राजस्थान फील्ड का उत्पादन 19.2 फीसदी घटकर 4,90,560 टन रहा।

रिफाइनरियों में पेट्रोलियम ईंधन का उत्पादन करीब 30 फीसदी गिरा

लॉकडाउन के कारण मांग घटने से रिफाइनरियों ने भी ईंधन का उत्पादन कम कर दिया। रिफाइनरियों में ईंधन का उत्पादन गत महीने करीब 30 फीसदी कम 1.89 करोड़ टन का हुआ। लॉकडाउन के कारण अधिकतर वाहन सड़क पर नहीं आ सके। इसके कारण ईंधन की मांग में भारी गिरावट आई।